Total Samachar राष्ट्र के निर्माण का संकल्प पूरा करना केवल मोदी और योगी के शासन में ही संभव: डा0 दिनेश शर्मा

0
54

लखनऊ । उत्तर प्रदेश के पूर्व उपमुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा ने कहा कि पर  राष्ट्र के निर्माण के संकल्प को पूरा करना  केवल मोदी और योगी के शासन में ही संभव है। लखनऊ में आयोजित एक कार्यक्रम में  उन्होंने कहा कि सेवा को ही परम धर्म मानते हुए जिस प्रकार मोदी एवं योगी ने कोरोना काल में लोगों के इलाज को सुनिश्चित किया। उन्हें मुफ्त वैक्सीन दी ।उन्हें  राशन दिया उससे इस देश ने कोरोना जैसी महामारी से निपटने का अन्य देशों के सामने उदाहरण प्रस्तुत किया। दोनो नेताओं के सेवा धर्म अपनाने के कुछ उदाहरण प्रस्तुत करते हुए उत्तर प्रदेश के पूर्व उपमुख्यमंत्री ने कहा कि  मुफ्त में लोगों को मकान दिए , मुफ्त में शौचालय दिए, मुफ्त में दस किलो राशन दिया, गैस का कनेक्शन तथा पाचवें तक मुफ्त शिक्षा की व्यवस्था की , लड़कियों के लिए 12वीं तक मुफ्त शिक्षा देने की व्यवस्था की।पढ़नेवाले पांचवें तक के बच्चों को शिक्षा मुफ्त मे ंदेने के साथ साथ उन्हें भोजन, बस्ता, पुस्तकें  , पोशाक, श्वेटर, मोजे आदि मुफ्त देने की व्यवस्था की। उन्होंने कहा कि ऐसा सराहनीय कार्य मोदी और योगी ही कर सकते हैं। डा0 शर्मा ने कहा कि मोदी के आने के  पहले लोगो को  भड़काने के साथ  उन्हें जातियों में बांटने की कोशिश की जाती थी जबकि  वास्तविकता यह है कि जातियों से कोई मतलब नही है क्योंकि हर व्यक्ति हिन्दुस्तानी है। न कोई दलित है और ना ही कोई पिछड़ा नहीं अगड़ा है । वास्तविकता यह है कि सब भारत मां के लाल हैं,इसी तत्व को समझकर मोदी और योगी ने जो योजनाएं चलाई वे गरीब के कल्याण के लिए चलाई।मोदी और योगी गरीब का कल्याण चाहते हैं इसीलिए उन्होंने उनके कल्याण के लिए विभिन्न योजनाए चलाईं।

उन्होंने कहा कि जनता की सेवा के जिस  व्रत को  राजीव मिश्रा ने अपने जीवन में अपनाया वह अनुकरणीय है । राजनीतिज्ञ तो चुनाव के समय आते हैं और चले जाते है किंतु इस व्यक्ति न तो चुनाव में खड़ा होना था और ना ही वोट लेना था फिर भी इसने गरीबों की सेवा का आदर्श प्रस्तुत किया । मिश्रा जी ने अपनी पत्नी के निधन के बाद जनता की सेवा अपने परिवार के व्यक्ति की तरह की है। कभी स्वास्थ्य के शिविर लगवा रहे है तेा कभी कंबल बांट रहे हैं, कभी मुफ्त में  दवाइयां बांट रहे हैं। कोरोना के समय जब लोग  अपने घरों के अन्दर बैठे थे तब इन्होंने ममता चैरिटेबल ट्रस्ट की ओर से घर धर जाकर न केवल भाप की मशीन बांटी बल्कि अपने पैसे से खरीदकर भी  लोगों में दवाइयां वितरित की  और  लोगों के घरों में आक्सीजन के सिलिन्डर बांटे , मुफ्त में मरीजों को इलाज की सुविधा दिलाने के लिए उनको अस्पताल में भर्ती कराया तथा अस्पताल में भर्ती लेागों को खाना पहुंचाया। तालियों की गड़गड़ाहट के बीच उन्होंने कहा  कि शायद जनता की सेवा का इससे बड़ा उदाहरण कोई दूसरा नही हो सकता। उनका कहना था कि इसीलिए आज के कार्यक्रम के लिए उन्होंने जब आज आयोजित स्वास्थ्य कैम्प के लिए  उन्हें आमंत्रित किया तो वे उसे स्वीकार कर आए।उनके सेवा के आदर्श से यह बात सच हो जाती है कि बिना पद के सेवा की जा सकती है तथा सेवा करने से पद अपने आप बढ़ जाता है।

डा0 शर्मा ने योग्यता और पद के संबंध में महाभारत का दृष्टांत दिया और कहा कि किसी व्यक्ति के पास योग्यता नही है और उसे पद मिल जाता है तो वह धृतराष्ट्र बन जाता है और किसी व्यक्ति के पास योग्यता है पर उसे पद नही मिलता तो वह दानवीर कर्ण बन जाता है। राजीव मिश्रा के पास योग्यता है पर पद नही है पर अपने कार्यों से ये दानवीर कर्ण की श्रेणी में आ गए है। डा0 शर्मा ने कहा कि आज के मेडिकल कैम्प में भारतीय जनता पार्टी की  विचारधारा  विचारधारा के अनुकूल  गरीबों को निःशुल्क बेहतर चिकित्सा उपलब्ध कराने के लिए विशेषज्ञ चिकित्सकों बुलाया गया है।उन्होंने इस कैम्प में आई महिलाओं को संबोधित करते हुए कहा कि जब तक देश में मजबूत शासन है तभी तक  जातिवाद खत्म हो सकता है तभी तक देश की तरक्की हो सकती है तथा उनके बच्चों को रोजगार मिल सकता है।किंतु यदि ये जातिवाले नेता आ गए तो आज जो उन्नति हो रही है वह रूक जाएगी। कार्यक्रम में कंबल ट्राई साइकिल दिव्यांग प्रयोग हेतु उपकरण भी वितरित किए गए कार्यक्रम को राजीव मिश्रा ने भी संबोधित किया साकेत शर्मा गौरव पांडे रीना विक्रम सिंह डॉ सुनीता चंद्र डॉ सौरभ चंद्र डॉ अजय शुक्ला डॉ जसपाल डॉ अजय गौतम आदि विशेष रूप से उपस्थित रहे कार्यक्रम स्थल पर लगाए गए स्वास्थ्य कैंप पर भारी संख्या में लोगों की उपस्थिति रही बाद में डॉक्टर दिनेश शर्मा द्वारा चिकित्सकों को सम्मानित किया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here