सुशासन के योगी मॉडल की चर्चा देश दुनिया में है। इसके अंतर्गत सामाजिक सौहार्द के साथ साथ विकास व व्यवस्था सुधार पर बल दिया गया। चार दशकों से चली आ रही संवेदनशील समस्याओं का बड़ी हद तक समाधान हुआ। इसमें पूर्वी उत्तर प्रदेश की बाढ़ व जापानी बुखार की समस्या शामिल है। इनके समाधान का पहले कोई दीर्घकालिक प्रयास ही नहीं किया गया था। यह सब पूर्वी उत्तर प्रदेश की नियति बन गई थी। आपदा के समय ही शासन प्रशासन की सक्रियता दिखाई देती थी। तात्कालिक प्रयास किये जाते थे। योगी आदित्यनाथ ने इनके स्थायी समाधान की कार्य योजना बनाई थी। इसका सफलता के साथ समाधान किया गया।
बिहार कर सारण से सांसद राजीव प्रताप रूडी ने सिताब दियारा क्षेत्र को बाढ़ से मुक्ति दिलाने में विशेष सहयोग करने पर योगी आदित्यनाथ का आभार व्यक्त किया। बिहार के सारण संसदीय का कुछ हिस्सा उत्तर प्रदेश की सीमा में भी पड़ता है। जय प्रकाश नारायण की जन्म भूमि सिताबदियारा का एक भाग बिहार में व दूसरा उत्तर प्रदेश में पड़ता है।

उत्तर प्रदेश और बिहार दोनों भाग को बाढ़ से बचाने के लिए सवा सौ करोड़ रुपये की लागत से बांध का निर्माण किया गया है। जिसके कारण सारण के सिताब दियारा क्षेत्र में बाढ़ और कटाव रोकने में मदद मिली है। राजीव प्रताप रूडी ने पूर्वांचल एक्सप्रेसवे के लिए भी मुख्यमंत्री को धन्यवाद दिया। यह एक्सप्रेसवे सारण से होकर गुजरेगा। जिस कारण सारण के लोगों को इसका विशेष लाभ होगा। बलिया से बैरिया-रिविलगंज-छपरा-दिघवारा होते हुए पटना तक कंट्रोल्ड एक्सेस एक्सप्रेसवे की कनेक्टिविटी सारण के लोगों को मिलेगी। उद्योग पर्यटन और अन्य क्षेत्र में इस एक्सप्रेसवे से स्थानीय लोगों को लाभ मिलेगा। पूर्वांचल एक्सप्रेसवे का विस्तार छपरा होते हुए पटना तक होगा। पटना, छपरा से होकर पूर्वांचल एक्सप्रेसवे के माध्यम से बलिया से जुड़ेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

1 × four =